About us - Privacy Policy - Disclaimer - Contact us - Guest Posting - Income Reports

Inbound Links Aur Outbound Links Kya Hoti Hai ? – Full SEO Guide

इस post में हम बात करेंगे कि SEO में Inbound Links Aur Outbound Links क्या होती हैं ? और इनका search engine optimization में क्या योगदान होता है, इसके साथ ही हम ये भी जानेंगे कि Inbound Links Aur Outbound Links को कैसे use करना चाहिए ? ये एक SEO guideline पर आधारित post है जो सभी bloggers के लिए बहुत ही important है। बहुत सारे ऐसे blogger हैं जो इन links के बारे में नहीं जानते या इनका SEO में क्या use होता है ? इसलिए इस article में उन सभी points को शामिल किया गया है जो एक blogger को इनके बारे में मालूम होना बहुत ही जरुरी होता हैं। इसमें आप ये भी जानेंगे कि Inbound Links Aur Outbound Links में क्या difference होता है। यदि आपको भी इन links के बारे में अच्छे से मालूम नहीं है तो आप समझिये कि ये post आपके लिए ही है जिसे आप last तक read करके अपने blogging knowledge को improve करके अपने blog को popular बना सकते हैं।

Inbound Links Aur Outbound Links Kya Hoti Hai

SEO ke liye Inbound Links Aur Outbound Links kya hoti hai ?

कुछ समय पहले बहुत सारे bloggers ने मुझसे पूछा था कि ये किस प्रकार की links या backlinks होती हैं और ये हमारे SEO को किस तरह affect करती हैं। जब आप off page seo related help किसी से लेते हैं या किसी SEO expert से consult करते हैं तो आपसे कई बार पूछा गया होगा कि आपकी website की inbound links कितनी हैं और outbound links कितनी हैं। सायद आपको इनके बारे में जानकारी ना हो और आप expert को सही जानकारी नहीं दे पाते होंगे।

एक दिन जब मुझसे Facebook पर किसी blogger ने off page seo से related help लेने की request की तो मैंने इन backlinks के बारे में जानकारी लेनी चाही तो मालूम चला कि उस blogger को Inbound Links Aur Outbound Links के बारे में मालूम ही नहीं है। इसलिए इस post के माध्यम से इसके बारे में जानकारी देने जा रहा हूँ।

Inbound Links Aur Outbound Links me kya Difference hota hai ?

Inbound Links ये वो links या backlinks होती हैं जो आपकी site पर point करती हैं, मतलब ये वो  incoming links होती हैं जो आपकी site की तरफ आती हैं। इन्ही links को search engine read करके आपकी website को search result में show करता है। जितनी ज्यादा और powerful links आपकी website या blog पर point करेंगीं उतना ही अच्छी आपकी site की SERP (search engine results page) होगी और organic traffic भी अच्छा मिलेगा।

लेकिन ध्यान रहे यहाँ पर में quality links की बात कर रहा हूँ जो आपके SERP के लिए best होतीं हैं। इसका मतलब ये नहीं कि आपकी incoming links या backlinks poor quality की हों। यदि आपकी site पर low quality links बहुत ज्यादा हैं तो आपको उन bad links को remove करना चाहिए otherwise आपकी site पर penalty लग सकती है। इसलिए हमेशा high quality backlinks ही बनायें।

Inbound Links Example :-

मान लीजिये यदि आपकी website A है और incoming website link B है तो  कुछ इस तरह का figure बनेगा –

A <———- B

जहाँ A आपकी site है और B inbound links है जो आपकी website पर point कर रही है। इस तरह की links को Inbound links कहते हैं।

अब आप थोड़ा confuse हो रहे होंगे और सोच रहे होंगे कि आखिर ये Inbound Links कैसे बनती हैं ? तो मैंने जैसे कि ऊपर भी बताया है कि ये आपकी site की backlinks होती हैं जिन्हें आप कुछ cases में control कर सकते हैं और कुछ cases में इन्हें रोक नहीं सकते। जैसे –

  1. यदि आप अपनी website के लिए backlinks बनाते हैं तो आपको उस website की PA, DA और spam score check करके ही link building करनी चाहिए। मतलब इसे आप अपने हिसाब से manage कर सकते हैं।
  2. यदि आपकी site की link को कोई other website पर add किया जाता है तो इसे आप रोक नहीं सकते हैं, लेकिन हाँ यदि वो link आपकी site से related नहीं है या उसका PA DA low है तो आप webmaster tool में link to your site में जाकर manually check करके उस website owner को अपनी link remove करने के बारे में बोल सकते हैं, यदि वो कुछ दिनों में आपकी link को remove नहीं करता है तो आप Disavow tool की help से google को उस particular link के लिए no-index या ignore करने के लिए बोल सकते हैं।

Inbound links तब बनती हैं जब आप कुछ website पर जाकर अपनी website की link add करते हैं जैसे – Social bookmarking, Directory submission, Blog Comments, Forum posting, Article Submission etc.


इसे भी पढ़िए:- Nofollow aur Dofollow Links me kya difference hota hai

Outbound Links ये वो outgoing links होती हैं जो आपकी website से किसी other website पर point करती हैं, मतलब ये वो external links होती हैं जो आपकी site से दूसरी site की तरफ जाती हैं। इस तरह की links को हम अपने article में insert करते हैं जिससे हमारे content का trust improve हो।

कुछ experts का मानना है कि Outbound Links website को hurt कर सकतीं हैं और में भी इसे 100% true समझता हूँ, लेकिन इन्हें सही तरीके से use किया जाये तो ये हमारी website की SEO के लिए बहुत ही अच्छी होती हैं।


यदि आपको अपने content में Outbound Links use करना है तो आपको नीचे दिए गए कुछ rules को follow करना चाहिए –

  • External links की PA और DA good होनी चाहिए।
  • उसका Spam score zero (शून्य) होना चाहिए।
  • उस website पर pornographic content या links नहीं होनी चाहिए।
  • वो link आपके content से related होनी चाहिए।

यदि आप ऊपर दिए गए points को follow करते हुए अपने content में Outbound Links use करेंगे तो real में इससे आपके content की search priority improve होगी। और यदि आपने कहीं गलती से भी low quality Outbound Links को अपने content में insert कर दिया तो हो सकता है आपको google penalty का सामना करना पड़ जाये। इसलिए बहुत ही सोच समझकर इस तरह की links को use करना चाहिए।

Outbound Links Example :-

मान लीजिए आपकी website A है और B External link है तो कुछ इस प्रकार figure बनेगा –

A————–>B

जहाँ A आपकी site है और B Outbound Link है जो आपकी website से दूसरी website की तरफ जा रही है।

उम्मीद है आपको अब मालूम चल गया होगा कि Website SEO Me Inbound Links Aur Outbound Links Kya Hoti Hai aur inme kya difference hota hai. और साथ ही आपने समझा कि website SEO के लिए Inbound Links Aur Outbound Links को कैसे use किया जाता है। यदि आपको इससे related कोई confusion है तो आप comment करके पूछ सकते हैं। और यदि ये post आपको helpful लगे तो इसे social media पर share करना ना भूलें।    धन्यवाद !

Comments

  1. By Deepak Vaishnav

    Reply

    • Reply

  2. By rohaan

    Reply

    • Reply

      • By Haidar Khan

        Reply

  3. By Deepak Vaishnav

    Reply

    • By Haidar Khan

      Reply

  4. By sachin

    Reply

  5. By Sivam

    Reply

    • Reply

  6. By kamlesh parihar

    Reply

    • Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *